Home » Love Shayari » Dost Kya hai – A Short Poem on Friendship

Dost Kya hai – A Short Poem on Friendship

किसी ने पूछा दोस्त क्या है ?
मैने काँटो पैर चल कर बता दिया
कितना प्यार करोगे दोस्त को?
मैने पूरा आसमान दिखा दिया
कैसे रखोगे दोस्त को?
मैने हल्के से फूलों को सेहला दिया
किसी की नज़र लग गयी तो ?
मैने पल्को में उस को चुपा लिया
जान से भी प्यारा दोस्त किसे केहते हो ?
मैने आपका नाम बता दिया.

Originally posted 2016-12-31 00:11:57.

Leave a Comment

Your email address will not be published.